घोटिया आंबा मेला 3 से 7 अप्रेल तक, एडीएम वर्मा ने ली तैयारी बैठक

Updated on March 26, 2019 Other
घोटिया आंबा मेला 3 से 7 अप्रेल तक, एडीएम वर्मा ने ली तैयारी बैठक , Banswara "महाभारतकालीन स्मृतियां आस्थाधाम घोटिया आंबा तीर्थ क्षेत्र 3 से 7 अप्रेल तक आयोजित होने वाले पांच दिवसीय परंपरागत मेले के सफल आयोजन के लिए पूर्व तैयारी "

Banswara March 26, 2019 - जिले के बागीदौरा उपखण्ड क्षेत्र की बारीगामा पंचायत में महाभारतकालीन स्मृतियों में अपने में समाहित करने वाले जनजातियों के आस्थाधाम घोटिया आंबा तीर्थ क्षेत्र 3 से 7 अप्रेल तक आयोजित होने वाले पांच दिवसीय परंपरागत मेले के सफल आयोजन के लिए पूर्व तैयारी बैठक अतिरिक्त जिला कलक्टर राजेश वर्मा की अध्यक्षता में सोमवार को घोटिया आंबा मंदिर परिसर में आयोजित की गई। बैठक में मेले के तहत श्रद्धालुओं की सुविधार्थ विभागवार दायित्वों का निर्धारण करते हुए दिशा-निर्देश प्रदान किए गए।   
 

तय समय में हो निर्दिष्ट व्यवस्थाएं:  
अतिरिक्त कलक्टर वर्मा ने अधिकारियों को आपस में समन्वय स्थापित करने और मेले के सफल आयोजन के लिए बेहतर व्यवस्थाएं करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि तीर्थ स्थल पर आने वाले मेलार्थियों को किसी भी प्रकार की अव्यवस्थाओं से परेशानियों का सामना नहीं करना पड़े इस दृष्टि से पूर्व निर्दिष्ट व्यवस्थाएं तय समय पर की जावें। वर्मा ने मेला स्थल की उचित साफ-सफाई के साथ-साथ परिसर में पड़ी निर्माण सामग्री को तत्काल प्रभाव से हटवाते हुए छाया, पेयजल इत्यादि की उचित व्यवस्थाएं करने के निर्देश दिए। 
कानून एवं शांति व्यवस्था पर चर्चा: 
बैठक दौरान मेले में कानून एवं शांति व्यवस्था बनाएं रखने के लिए प्रबंधों पर भी चर्चा की गई। उपखण्ड अधिकारी बागीदौरा और कुशलगढ़ को मेला मजिस्ट्रेट, बागीदौरा व कुशलगढ़ के तहसीलदार को सहायक मेला मजिस्ट्रेट का दायित्व सौंपते हुए मेले के दौरान कानून एवं शांति व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश प्रदान किए गए। अतिरिक्त कलक्टर ने मेले में नियंत्रण कक्ष की स्थापना के साथ ही पारीवाईज़ नियंत्रण कक्ष पर ड्यूटी तहसीलदार एवं विकास अधिकारी, बागीदौरा को लगाने को कहा। इसी प्रकार पुलिस विभाग को पर्याप्त पुलिस जाप्ता, डेªगन लाईट, पुलिस अधिकारियों व महिला पुलिस की तैनात करने व अपेक्षित वॉयरलेस सेट स्थापना के निर्देश दिए गए।   
इन व्यवस्थाओं के लिए दिए निर्देश: 
बैठक में मेलावधि में आने वाले श्रद्धालुओं को सुविधाओं के लिए विभागीय अधिकारियों को पुख्ता प्रबंध सुनिश्चित करने को कहा गया। इस दौरान दुकानों के आवंटन पर चर्चा की गई और मन्दिर परिसर में दुकानों का आवंटन नहीं करने के निर्देश दिए। इसके साथ ही परिसर में टेंट, प्रकाश व्यवस्था हेतु अस्थायी विद्युत कनेक्शन, वैकल्पिक प्रकाश व्यवस्था हेतु 5 जनरेटर एवं 2 रिजर्व रखने, ट्यूब लाईट, हेलोजन आदि की समुचित व्यवस्था के निर्देश दिए। अतिरिक्त कलक्टर ने टेन्ट में खुले वायर नहीं रखने, पेयजल हेतु पानी के 15 टैंकर तथा 15 ड्रम तथा स्थल पर छाया की व्यवस्था करने, पुलिस नियन्त्रण कक्ष, चिकित्सा केम्प, उपभोक्ता भण्डार, दुग्ध डेयरी तथा यातायात पार्किंग आदि के स्थान की व्यवस्था व कुण्ड तथा मेला स्थल के अन्य स्थानों की समुचित सफाई के लिए विकास अधिकारी को निर्देश प्रदान किए गए।  
विभागों को यह निर्देश दिए:  
बैठक में लोक निर्माण विभाग को बुडवा, गामदा व खेड़ा  वड़लीपाड़ा की ओर से आने वाले समस्त सड़क मार्गों की मरम्मत करवाने,  सड़क पर आने वाले पेड़ों की छटाई करवाने के निर्देश दिए गए जबकि विद्युत विभाग को मेला स्थल के लिए अस्थायी विद्युत कनेक्शन जारी करने, मेला स्थल पर जाने वाले समस्त मार्गों विशेष कर बुड़वा से घोटिया आम्बा तक ढीले विद्युत तारों को ठीक कराने, जलदाय विभाग के पेयलज स्रोतों से पानी भरने के लिए थ्री-फेज विद्युत आपूर्ति करने, मेला स्थल एवं मेला क्षेत्र में 24 घण्टे समुचित विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए। जलदाय विभाग को मेला स्थल, इसके मार्गोें तथा आस-पास के क्षेत्र में स्थित खराब हैण्डपम्पों को दुरूस्त कराने, टैंकरों हेतु जलापूर्ति सुनिश्चित करने, रोडवेज के मुख्य प्रबंधक को 20 अतिरिक्त बसों की व्यवस्था करने, जिला परिवहन अधिकारी को पर्याप्त प्राईवेट बसों को अस्थायी परमिट जारी कर व्यवस्था कराने, ओवरलोडिंग को रोकने, समुचित किराया राशि के निर्धारण को पाबंद किया गया। मेला स्थल पर चिकित्सा दल की 24 घण्टे मय एम्बुलेंस उपकरण एवं दवाईयों की व्यवस्था करने, चिकित्सा शिविर आयोजित करने तथा खाद्य सामग्री की जांच के लिए चिकित्सा विभाग को निर्देश दिए गए। मेला अवधि में मेला स्थल पर 2 फायर ब्रिगेड की व्यवस्था के लिए नगर परिषद बांसवाड़ा व 1 नगरपालिका कुशलगढ़ को कहा गया। इसी प्रकार मेला परिसर में स्वच्छता की दृष्टि से चल शौचालय स्थापित करने के लिए नगरपरिषद बांसवाड़ा व नगरपालिका कुशलगढ़ को निर्देश प्रदान किए गए।   
 

बैठक दौरान बागीदौरा एसडीओ डॉ. अमित यादव, कुशलगढ़ एसडीओ सुमन मीणा, पीडब्ल्यूडी अधीक्षण अभियंता रामहेत मीणा, विकास अधिकारी दलीपसिंह, बागीदौरा तहसीलदार शांतिलाल जैन, महिला एवं बाल विकास उपनिदेशक पार्वती कटारा, कलिंजरा थानाधिकारी प्रदीप बीठू सहित समस्त संबंधित विभागीय अधिकारी व बड़ी संख्या में श्रद्धालु मौजूद थे। 



×
Hello Banswara Open in App