Gupteshwar Mahadev

Maliwada, Chandra Poll Gate,

यहाँ के पुजारी श्री प्रेमकांत जी मेहता के वंशज सन 1836 से यहाँ के पुजारी है. और यह सातवीं पीडी है. इनके वंशजों के सपने में आया की अरथुना रावजी की हवेली के आगे मैं (महादेव) विराजित हूँ. उस पश्च्यात दरबार की स्वीकृति के बाद यहाँ खुदाई की गई व् यहाँ से शिवलिंग प्रकट हुवे. यह स्वयंभू शिवलिंग है. यह बाँसवाड़ा के साढ़े बारह ज्योतिर्लिंग में इनका भी महत्वपुर्ण स्थान है. यह शिव लिंग सामन्यतय जमीन के लेवल से लगभग 6 फीट निचे है. इस मंदिर के पीछे अरथुना राव जी की हवेली है.

इस जगह से पहले पानी बहता था जो आगे जाकर बड़े नाले में मिल जाया करता था इस नाले का नवीनीकरण कर दिया गया जिसे हम आज कागदी नदी कहते है.

यहाँ के स्थानीय लोगो की मान्यता है की जब भीषण गर्मी के पश्च्यात वर्षा नहीं होती तो इस शिव लिंग को यहाँ के भक्तगण पुराणी बावडियों से पानी लाकर गर्भगृह को भर दिया जाता है. भगवान् महादेव प्रसन्न होते है. 

कार्यक्रम 
* श्रावण मास 
* शिव रात्रि 

पुजारी श्री प्रेमकांत जी मेहता

Gupteshwar Mahadev
Maliwada, Chandra Poll Gate, Banswara, Rajasthan
Contact No.