Kali Kalyan Dham

Near Rajtalab,

यह मंदिर पिछले कई वर्षों से निर्मित है. यहाँ के पूर्व महंत श्री बद्रीदास जी महाराज . श्री बद्रीदास जी के गुरु श्री नारायण दास जी, जो की रामानंद संप्रदाय से थे. यह लालीवाव के पूर्व महंत थे. इनका देवलोक गमन 08 अगस्त 2013 को हुवा.

इस मंदिर में पहले समस्त चिकित्षा समाधान ईश्वरीय शक्ति के द्वारा किया जाता था.

यहाँ के अभी व्यवस्थापक इनके सुपोत्र श्री नीरज जी मेहता और नितिन जी मेहता है. जिनके द्वारा काली कल्याण सेवा संस्थान एवं ट्रस्ट चलाया जाता है, जिसमे सेवा एवं धार्मिक कार्यक्रम होते है. यहाँ पर पिछले 50 वर्षो से अखाडा चलाया जा रहा है, जिसे पांडव व्यायाम शाला के नाम से जाना जाता है. 

मुख्य कार्यक्रम
* दोनों ही नवरात्री में यहाँ पर नवचंडी व विशेष अनुष्ठान किये जाते है. 
* गुरुपूर्णिमा 
* अगस्त माह में कल्लाजी का जन्मोत्सव 
* देव दिवाली (पूर्णिमा ) के दिन विशेष प्रसाद (लंगर) होता है.

श्री बद्रीदास जी की चरणपादुकाओ को इनके पुण्यतिथि पर इनके समाधि स्थल (छतरिया )पर स्थापित किया जायेगा.

जानकारी : श्री नितिन जी मेहता, नीरज जी मेहता

Kali Kalyan Dham
Near Rajtalab, Banswara, Rajasthan
Contact No.