माँ ने किडनी देकर बेटे की जान बचाई

Updated on November 16, 2018 Health
माँ ने किडनी देकर बेटे की जान बचाई, Banswara "Mother donate kidni"

Banswara November 16, 2018 बाँसवाड़ा जिले के गनोड़ा तहसील की ग्राम पंचायत चिरावाला के नागनसेल गांव में 55 वर्षीय ज्योतिदेवी पाटीदार ने अपने 35 वर्षीय बेटे रमेशचंद्र पाटीदार को किडनी देकर जीवन बचाया है। बेटा पुलिस कांस्टेबल है।

मां ज्योतिदेवी ने कहा कि मेरे बेटे की जरुरत जनता और देश को ज्यादा है, इसलिए मेने अपनी किडनी देकर स्वस्थ जीवन दिया है। मेरा बेटा रमेश 2007 से पुलिस लाइन में सेवाएं दे रहा है। गंभीर बीमारी होने पर काफी इलाज कराया, परन्तु ठीक नहीं हुआ। डॉक्टरों ने बताया कि उसकी एक किडनी डेमेज हो गई है, जिसे बदलना बहुत जरूरी है। बेटे के बीमार होने के बाद कई लोगों द्वारा मुझे किडनी देने से मना किया, लेकिन दिल नहीं माना। आखिर मेरा बेटा है और 9 महीने मेनेे पेट में पाला हैं। लोगों के कहने पर ध्यान नहीं दिया और मेरे बेटे को किडनी दी। 

रमेश के छोटे भाई रविंद्र पाटीदार ने बताया कि अहमदाबाद के एक निजी अस्पताल में 2 नवंबर को रमेश की किडनी ट्रांसप्लांट की है।



Leo College Banswara