बांसवाड़ा प्रशासन की मॉक ड्रिल : माही नदी में नहीं गिरी बस

Updated on February 12, 2019 Govt
बांसवाड़ा प्रशासन की मॉक ड्रिल : माही नदी में नहीं गिरी बस, Banswara "रात्रि करीब 9.30 बजे रतलाम-बांसवाडा राजमार्ग पर माही नदी पर बने गेमन पुल पर गुजर रही यात्रियो से भरी रोडवेज बस के पुल को तोडकर नदी में गिर जाने की घटना का पूर"

प्रषासन व पुलिस ने किया आंतरिक सुरक्षा का पूर्वाभ्यास  


रात्रि करीब 9.30 बजे रतलाम-बांसवाडा राजमार्ग पर माही नदी पर बने गेमन पुल पर गुजर रही यात्रियो से भरी रोडवेज बस के पुल को तोडकर नदी में गिर जाने की घटना का पूर्वाभ्यास किया गया । घटना के तुरन्त बाद श्री आषीष गुप्ता जिला कलेक्टर बांसवाडा एवं तेजस्वनी गौतम पुलिस अधीक्षक, बांसवाडा घटना स्थल पर पहुंचे । सर्वप्रथम सम्बन्धित थाना क्षेत्र के थाना अधिकारी व पाडला चैकी के पुलिसकर्मी घटना स्थल पर पहुंचे। तत्पष्चात् पुलिस लाईन बांसवाडा से पुलिस बल घटना स्थल पर पहुंचा।

डा. अनिल भाटी के नेतृत्व में चिकित्सकों की टीम एम्बुलेन्स के साथ घटना स्थल पर पहुंची । प्रदीप कुमार गुप्ता के नेतृत्व में नगर परिषद् बांसवाडा की टीम फायर ब्रिगेड के साथ घटना स्थल पर पहुंची।  
घायलों को रात्रि 10.30 बजे महात्मा गांधी चिकित्सालय बांसवाडा के लिए उपचार हेतु रवाना किया गया । रात्रि 10.50 बजे एम्बुलेन्स घायलों को लेकर महात्मा गांधी चिकित्सालय पहुंची, जहां चिकित्सकों की टीम तैयार खडी मिली । घायलों को अस्पताल में उपचार हेतु भर्ती करवाया गया ।  
 

श्री चन्दनदान बारहट, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, बांसवाडा, सुश्री पूजा कुमारी पार्थ, उपखण्ड अधिकारी बांसवाडा, श्री पी.आर.मीणा, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी बांसवाडा, श्री रमेष चन्द्र शर्मा, अतिरिक्त मुख्य चिकित्सा अधिकारी बांसवाडा, श्री गिरीष जोषी, अधीक्षण अभियन्ता, अविविनिलि बांसवाडा, श्री रवि कुमार मेहरा, मुख्य प्रबन्धक रोडवेज बांसवाडा, श्री हरीष मेघवाल, एक्स.ई.एन., श्री हजारी लाल आलोरिया, जिला रसद अधिकारी, बांसवाडा, लायक अली, सहायक निदेषक मतस्य विभाग बांसवाडा, श्री दिलीप सिंह यादव, विकास अधिकारी, बांसवाडा, श्री प्रकाष ख्याती, विकास अधिकारी छोटी सरवन, श्री अलीमुद्दीन कार्यवाहक तहसीलदार छोटी सरवन, श्री लक्ष्मण भगोरा, सरपंच नापला घटना स्थल पर पहंुचे ।  
 

श्री जितेन्द्र वर्मा अधीक्षण अभियन्ता माही परियोजना, श्री अभय मुद्गल, जिला परिवहन अधिकारी बांसवाडा, श्री कमलेष शर्मा, सहायक निदेषक सूचना एवं जन सम्पर्क बांसवाडा, श्री देवी लाल गर्ग, सहायक प्रषासनिक अधिकारी, आपदा प्रबन्धन अनुभाग बांसवाडा आदि अधिकारी सूचना मिलने के बावजूद घटना स्थल पर नहीं पहुंचे । अधीक्षण अभियन्ता सार्वजनिक निर्माण विभाग बांसवाडा, अधिषासी अभियन्ता सार्वजनिक निर्माण विभाग (षहर) बांसवाडा ने फोन रिसीव नहीं किया ।    

 

दौड़भाग हो गई शुरू
गेमन पुल से बस नदी में गिरने की सूचना कंट्रोल रूम के माध्यम से विभिन्न विभागों तक पहुंचने के बाद प्रशासन के विभिन्न विभागों के अधिकारियों ने दौड़भाग शुरू कर दी। कई ने दूरभाष से भी एक-दूसरे से संपर्क के प्रयास किए। इसी बीच सोशल साइट्स पर भी बस गिरने का संदेश वायरल होने के बाद लोगों ने भी अपने-अपने स्तर पर इसकी सच्चााई जानने के प्रयास किए। जब ये हकीकत पता चली की ये तो प्रशासन ने मॉक ड्रील की थी तो लोगों ने राहत की सांस ली।

ये सबसे पहले पहुंचे
मॉक ड्रिल के हादसा स्थल पर कलक्टर -एसपी सबसे पहले पहुंचे। इसके बाद आंबापुरा थाना प्रभारी और पाड़ला चौकी की टीम पहुंची। वहीं घायलोंं को संभालने और उपचार के लिए ले जाने वाली 108 एम्बुलेंस के साथ ही कई महत्वपूर्ण विभागों के अधिकारी-कर्मचारी समय रहते नही पहुंचे।

आप भी एक घंटा देरी से
बांसवाड़ा एसडीएम के एक घंटा देरी से पहुंचने पर कलक्टर ने कहा कि मैडम आप एक घंटा देरी से हो। इस पर एसडीएम ने कहा कि आपको पता है कि मैं अवकाश पर हूं इसके बाद भी यहां आई हूं ? इस बात पर कलक्टर ने कहा कि इस तरह की स्थितियों पर आपकों तुरंत रिपोर्ट करनी चाहिए। इधर, इतने बड़े हादसे में बचाव के संसाधन भी मौके पर नजर नही आए।

यह दी थी सूचना
मॉक ड्रील को लेकर पुलिस नियंत्रण कक्ष से रात में पुलिस अधिकारियों एवं जिम्मेदार अधिकारियों तक यह सूचना भिजवाई गई कि सवारियों से भरी बस बांसवाड़ा से रतलाम की तरफ जा रही थी। जो गेमन पुल पर अनियंत्रित होने के बाद रेलिंग तोड़ते हुए सीधी माही नदी में गिर पड़ी है। इस हादसे में करीब दस-पन्द्रह लोगों के डूबने की आशंका है।

यह रहा टाइमिंग
अधिकारी - आने का समय
कलक्टर - 9:47
एसपी - 9:47
आंबापुरा एसएचओ- 9:52
दमकल -10:24
डॉक्टर पीएमओ -10:35
पीएचसी दानपुर - 10:40
108 बदरेल -10:40
सरपंच नापला - 10:38
पुलिस जाप्ता - 10:22
दानपुर एसएचओ - 10:24
एसडीएम बांसवाड़ा - 10:44

तैयारी देखी जाती है
मॉक ड्रील गेमन पुल पर प्रशासन व पुलिस की ओर किया गया है। इसमें अलग-अलग यूनिट सीविल डिफेंस, मेडिकल, पुलिस, नगरपरिषद सहित सभी विभागों की तैयारी देखी जाती है कि ऐसा कोई इवेंट यदि वास्तव में होता है तो उनका रिसपोंस टाइम क्या रहता है। कुछ टाइम से रिसपोंस मिला है तो कुछ ने डिले किया है। जहां डिले है वहां सुचारू रूप से व्यवस्था करेंगे।
आशीष गुप्ता, जिला कलक्टर



Fun Festival
×
Hello Banswara Open in App