सूर्य मकर राशि में 14 जनवरी की शाम को आएंगे 3 साल बाद फिर मकर संक्रांति 15 को मनाई जाएगी

Updated on January 11, 2019
सूर्य मकर राशि में 14 जनवरी की शाम को आएंगे 3 साल बाद फिर मकर संक्रांति 15 को मनाई जाएगी, Banswara "Makar Sakrantri will be on fifteenth January after three year"

मकर संक्रांति पर इस बार सूर्य मकर राशि में 14 जनवरी शाम को आएंगे। पुण्यकाल 15 जनवरी को होगा। पिछले माह खरमास (मलमास) की शुरुआत होने के बाद ही विवाह सहित मांगलिक कार्यों पर विराम लग गया था। संक्रांति पर सूर्य उत्तरायण में होने पर तिल और दान-पुण्य के बाद फिर से सावों की शुरुआत होगी। ज्योतिषियों के अनुसार इस बार 3 साल के बाद मलमास 16 दिसंबर को शुरू हुवा था। जबकि इससे पहले 2015 में 16 दिसंबर को इसकी शुरुआत हुई थी। मलमास 16 दिसंबर सुबह नौ बजकर 7 मिनट पर शुरू हुआ। जो 14 जनवरी शाम 7 बजकर 50 मिनट पर समाप्त होगा। जबकि मकर संक्रांति का पुण्य काल 15 जनवरी सुबह शुरू होगा। इससे मकर संक्रांति 15 जनवरी को ही मनाई जाएगी।

जानिए मकर संक्रांति का पूरा गणित
ज्योतिषाचार्य पंडित भवानी खंडेलवाल के अनुसार सूर्य जिस राशि पर स्थिर हो उसे छोड़कर जब दूसरी राशि में प्रवेश करते है तो उस काल विशेष को संक्रांति कहा जाता है। 2019 में सूर्य 14 जनवरी शाम को 7 बजकर 50 मिनट पर मकर राशि पर आएंगे। मकर संक्रांति का पुण्य काल 15 जनवरी को शुरू होगा। इससे पहले 2012 तथा 2016 में मकर संक्रांति 15 जनवरी को मनाई गई।

इस कारण 15 को रहेगा संक्रांति महत्व
2019 में सूर्य 14 जनवरी को शाम को 7:50 बजे मकर राशि में प्रवेश करेंगा। इसलिए संक्रांति 15 जनवरी को मनाएंगे। इसका पुण्यकाल 15 जनवरी को सूर्योदय से शुरू होगा। इससे पहले 2008 में 14 जनवरी को आधी रात के बाद 12.9 बजे सूर्य ने मकर राशि में प्रवेश किया था। इस प्रकार 2016 में भी सूर्य ने 14 जनवरी को आधी रात के बाद 1.26 बजे मकर राशि में प्रवेश किया था।



Leo College Banswara
×
Hello Banswara Open in App