नाैकरी का झांसा देकर आवेदन के नाम पर 700 अभ्यर्थियों से हड़पे ‌3.67 लाख रुपए

Updated on July 16, 2019 Crime
नाैकरी का झांसा देकर आवेदन के नाम पर 700 अभ्यर्थियों से हड़पे ‌3.67 लाख रुपए  , Banswara " हर आवेदन पर मांगे 525 रुपए, शाम को केस दर्ज, रात को आरोपी गिरफ्तार "

रुपए दाेगुने करने और प्राेपर्टी की स्कीम का झांसा देकर लोगों को लूटने वाले जिले में कई मामले सामने आ चुके हैं। लेकिन अब एक ऐसी फर्जी गैंग भी जिले में सक्रिय है जो बेरोजगार युवाओं को सरकारी योजनाओं के नाम पर नौकरी देने का झांसा दे रहे और आवेदन के नाम पर मोटी फीस वसूल रहे हैं। ऐसा एक ताजा मामला सोमवार को उजागर हुआ। इसमें करीब 700 अभ्यर्थियों के पास से आवेदन के नाम पर 525 रुपए हड़प लिए गए। कुल राशि करीब 3.67 लाख रुपए के आसपास है। अभ्यर्थियों ने अपने साथ हुई धोखाधड़ी को लेकर पुलिस को रिपोर्ट दी और कार्रवाई की मांग की। अभ्यर्थियों ने अरविंद डोडियार नाम के युवक के खिलाफ नामजद रिपोर्ट भी दी है।

दरअसल अरविंद डोडियार की ओर से कुछ दिनों पहले अखबार में विज्ञप्ति जारी की थी। जिसमें केंद्र और राज्य सरकार के एमएसएमई यूएएन आरजे03एफ0001048 के तहत गरीब, श्रमिक, किसान व शिक्षा स्तर को बढ़ाने के साथ स्टार्ट अप के लिए सरकार की ओर से चलाई गई योजनाओं में विभिन्न पदों पर वैकेंसी निकाली थी। जिसमें 10 हजार से लेकर 15 हजार रुपए मासिक वेतन और टीएडीए, प्रमोशन का झांसा तक दिया। विज्ञप्ति में बताया गया कि अभ्यर्थियों का चयन इंटरव्यू के आधार पर किया जाएगा। आवेदन के लिए 9166808332 नंबर भी प्रकाशित कराया गया।

आवेदन के 525 रुपए लिए, लेकिन नहीं दी रसीद : अभ्यर्थी सामाफला निवासी महेंद्रसिंह पुत्र उदयसिंह सोलंकी सहित अन्य ने बताया कि विज्ञप्ति में योजना संरक्षक के नंबर 9166808332 पर संपर्क किया तो माकोद निवासी अरविंद डोडियार से बात हुई। जिसने बताया कि विज्ञप्ति हमने ही प्रकाशित कराई है। आप 10वीं, 12वीं और ग्रेजुएशन की मार्कशीट, आधार कार्ड और फोटो के साथ 525 रुपए लेकर उदयपुर रोड पर चिड़ियावासा के पास न्यू गैलेक्सी एजुकेशन पर आ जाओ। इसके बाद महेंद्रसिंह सहित अन्य अभ्यर्थी भी वहां पहुंचे और अरविंद को दस्तावेज के साथ 525 रुपए दिए, लेकिन उसने इसके बदले रसीद नहीं दी।

इसके बाद अरविंद ने सभी को फोन पर सूचना दी और 2 जुलाई को निजी कॉलेज में इंटरव्यू के लिए बुलाया। यहां इंटरव्यू के बाद हर एक को प्रशिक्षण के लिए दोबारा 11 जुलाई को कॉलेज में बुलाया। इस दौरान यू ट्यूब पर मोटिवेशनल वीडियो दिखाया और बाद में नियुक्ति आदेश के लिए 15 जुलाई सोमवार को बुलाया। आरोपी अरविंद डोडियार ने दावा किया था कि 15 जुलाई को वह सभी को नियुक्ति पत्र दे देगा। इस पर सभी छात्र सुबह उसके पास पहुंच गए। लेकिन जब छात्र पहुंचे तो उसने नियुक्ति तारीख अपरीहार्य कारणों से स्थगित होना का बहाना कर दिया। इस पर छात्रों को शक हुआ और कुछ छात्रों ने वहां पर हंगामा किया। 

अभ्यर्थियों द्वारा सदर थाने में दी गई रिपोर्ट के बाद सब इंस्पेक्टर रमेश कटारा ने सोमवार रात को आरोपी अरविंद डोडियार को धोखाधड़ी के मामले में गिरफ्तार कर लिया और सभी दस्तावेज जब्त कर लिए।  

ऐसे हुआ शक: पैसे लेकर नियुक्ति देने का वादा किया, अभ्यर्थी पहुंचे तो नियुक्ति की तारीख कर दी स्थगित  
पहले से बताए अनुसार अभ्यर्थी सोमवार सुबह 10 बजे वापस वहां पहुंचे तो उन्हें बताया कि किन्हीं कारणों से नियुक्ति की तारीख स्थगित की जाती है। ऐसे में अभ्यर्थियों को संदेह हुआ तो उन्होंने वहां हंगामा करना शुरू कर दिया। आक्रोशित अभ्यर्थियों ने सदर थाने में जाकर अरविंद डोडियार के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की रिपोर्ट दी। सभी अभ्यर्थी वहां से कलेक्ट्रेट पहुंचे और एडीएम को पूरा वाकया बताया। यहां एडीएम राजेश वर्मा ने शिकायत पर संबंधित नंबर पर बात कर उन्हें मौके पर बुलाया। जिन्हें बाद में योजना से संबंधित जानकारी और दस्तावेज मांगे तो वो कुछ भी बता नहीं सके। इस दाैरान काफी संख्या में युवतियां और अन्य युवक भी शामिल थे। 

 

BY Bhaskar



×
Hello Banswara Open in App