बाइक सवार युवक की गर्दन कटी, 12 टांके आए, एमजीएच में भर्ती

Updated on April 20, 2019 Accident
बाइक सवार युवक की गर्दन कटी, 12 टांके आए, एमजीएच में भर्ती, Banswara "पाटीदार छात्रावास के समीप दर्दनाक हादसा, बाइक सवार युवक की गर्दन कटी, 12 टांके आए, एमजीएच में भर्ती"

खांदू कॉलोनी रोड पाटीदार छात्रावास के समीप शुक्रवार दोपहर लोहे की शीट से भरे ऑटो की चपेट में आने से बाइक सवार युवक की गर्दन कट गई। देखते ही देखते उसके गले में से तेजी से खून निकलने लगा। खून की धार को देख कर वहां से गुजर रहे लोग भी कांप उठे। अचानक हुई इस घटना को देखकर रास्ते में चल रहे लोग थोड़ी देर के लिए ठहर गए। ऐसे में वहां मौजूद लोगों ने घायल बाइक सवार को महात्मा गांधी चिकित्सालय में भर्ती करवाया। जहां उसकी गर्दन में 10 से 12 टांके लिए गए। खून काफी बह निकलने और गर्दन में घाव गहरा होने से डॉक्टरों ने युवक की हालत सामान्य नहीं बताई है। हादसे में नाहरगढ़ आनंदपुरी निवासी बलवंत सिंह पुत्र नटवर सिंह घायल हुआ है।  

जानकारी के मुताबिक बलवंत सिंह सिंटेक्स मिल में बतौर गार्ड कार्य करता है। दोपहर में पत्नी को घर छोड़कर बाइक से लौटने के दौरान पाटीदार हॉस्पिटल के पास वह हादसे का शिकार हो गया। एक ऑटो जोकि शीट (पतरे) से भरा हुआ था। वह बाइक के आगे चल रहा था। ऑटो में पतरे काफी आगे तक निकले हुए थे। बाइक सवार बलवंत सिंह उसे ओवरटेक कर आगे निकल गया। इस बीच ऑटो चालक ने अपनी स्पीड बढ़ा दी और आगे निकली हुई पतरा सीधे बलवंत सिंह की गर्दन में जा लगी। बलवान सिंह की गर्दन कट गई और कपड़े खून से सन गए। खून से लथपथ घायल को देखकर वहां से गुजर रहे लोगों ने मदद के लिए एंबुलेंस बुलाने लगे। बाद में बलवंत को किसी तरह एमजी अस्पताल पहुंचाया गया। इत्तला पर कोतवाली पुलिस एमजी अस्पताल पहुंची और घायल के परिजनों को हादसे के बारे में खबर देकर बुलाया। पुलिस मामले की जांच कर रही है।  

रोज बेरोकटोक गुजर रहे ऐसे ही जानलेवा ओवरलोड वाहन  
शहर में रोजाना ऐसे ही मटेरियल से भरे ओवरलोड वाहन बेरोकटोक मुख्य मार्गों और भीड़भाड़ वाले इलाकों में दिखाई देना आम है। कई बार इन ओवरलोड वाहनों की वजह से संकरी गलियों में ट्रैफिक जाम की स्थिति बन पड़ती है। पिछले महीनों भी डूंगरपुर-उदयपुर लिंक रोड पर पतरों से भरे एक ऑटो के अचानक ब्रेक लगाने से पीछे चल रही स्कूल बस पतरों से टकरा गई थी। जिससे पतरे बस के कांच तोड़कर भीतर घुस गए थे। हादसे में बच्चे भी चोटिल हुए थे। कहने को शहर के मुख्य मार्गों पर पुलिस तैनात है लेकिन इन ओवरलोड वाहनों पर कोई रोकटोक नहीं है। जिम्मेदार अधिकारी भी जानलेवा इन वाहनों को अनदेखा कर रहे हैं। 



 



×
Hello Banswara Open in App