महांकाल यात्रा

Updated on August 30, 2018
महांकाल यात्रा, Banswara "Mahankal Yatra"
  • 27-08-2018

महांकाल यात्रा - (हिन्द रक्षक) (Mahakal Yatra - (Hind Rakshak)

जिले में अपनी सकारात्मक उर्जा से राष्ट्र धर्म व समाज की सेवा करने वाले हिन्द रक्षक संगठन द्वारा इस वर्ष महांकाल यात्रा हर वर्ष से ज्यादा भव्य व विशाल आयोजित की जा रही है | महांकाल यात्रा की शुरुआत दोपहर 12:30 बजे शनी महांकाल मंदिर नयी आबादी से प्रारम्भ होगी | जो नई आबादी  चौराहा,कलेक्ट्री रोड, महात्मा गाँधी हॉस्पिटल, कुशलबाग, गाँधी मूर्ति, पिपली चौक, महालक्ष्मी चौक, आज़ाद चौक, पाला से होती हुई फिर से महांकाल शनि मंदिर पर भव्य संध्या  आरती के सात संपन्न होगी |

प्रशासन और श्रधालुओं के द्वारा यात्रा में सहयोग की अपेक्षा -

इस यात्रा में प्रशासन के द्वारा सुरक्षा की पूरी व्यवस्था की जाती है | इस यात्रा की विशेषता यंहा युवा वर्ग बढ़ चढ़ कर हिस्सा लेता है | जिसमे मालवा के प्रख्यात चल भजनों के गायक अपनी प्रसूति देते हैं जिसमे श्रद्धालु नृत्य कर अपनी भावनाओ को व्यक्त करते है | 

शहरवासी करते है सेवा -

महाकाल की इस यात्रा को सफल बनाने में शहरवासियों का भी बड़ा योगदान रहता है जगह-जगह महांकाल यात्रा मार्ग में स्वागत द्वार व पुष्प वर्षा की जाती हैं | श्रधालुओं के लिए रास्ते भर नुक्कड़ो पर प्रसाद व जल-पान की व्यवस्था की जाती है | जिससे यात्रा भर में उर्जा बनी रहे |

हिन्द रक्षक बैठक व रुपरेखा -

शहर के समाज सेवी संघठन हिन्द रक्षक द्वरा इस वर्ष श्रावण मास में भगवान महाकाल की शाही सावरी शहर में निकाली जाने के विषय में हिन्द रक्षक के कार्यकर्ताओ की बैठक नई आबादी महांकाल मंदिर में रखी गयी जिसमे में अध्यक्ष युगल उपाध्याय ने इस वर्ष 27 अगस्त 2018 सोमवार दोपहर 12;30 बजे महांकाल यात्रा के प्रारम्भ होने का प्रस्ताव रखा | जिसमे भजन गायक लखबीर सिंह लक्खा अपने भजनों से इस यात्रा को आन्ददित करेंगे | इस शाही सवारी के आयोजन में हिन्द रक्षक ने अपने लाव लश्कर में नई पेशकश करते हुवे दुर्गा वाहिनी युवतियों की विशेष प्रस्तुती को इस कार्क्रम में रखा है | जो यात्रा मार्ग के चौराहो पर अपने कोशल दंगल को सजाएगी |

यात्रा में 21 ढोल, जनजाति बाहुलीय का गेर नुत्य, फूलो की वर्षा करने वाली 3 तोपे, भागवान के सभी अवतारों की झांकी, मिट्टी से बने शिव-लिंग व सभी लाव-लश्कर का समायोजन रखा गया है, संत सानिध्य बेणेश्वर पीठाधीश्वर श्री अच्युतानंद जी महाराज व तलवाडा गौसंत श्री रघुविरदास जी महाराज, लालीवाव मठाधीश हरिओम शरण दास जी महाराज, भारतमाता मन्दिर के रामस्वरूप जी इस यात्रा की शोभा बडायेगे | इसमें सचिव हरेश लखानी ने महांकाल यात्रा की रुपरेखा पेश की | उपाध्यक्ष वासु बाथम ने समय पर इस यात्रा को शहर के मुख्य मार्गो से निकलने की अपनी बात को रखा जिससे आम लोगो को कोई व्यवधान ना हो | इस हिन्द रक्षक संघठन के सूत्रधार रितेश सोमानी (लाला भाई) ने इस बार 5000 लोगो का इस समारोह में सम्मिलित होने का लक्ष्य बताया है. जिसमें महीला मंडल हिन्द रक्षक की एक इकाई को इसमें जोड़ा गया है |